रविवार, 6 नवंबर 2011

औरंगाबाद में आज की ताज़ा खबर ०६.११.२०११

दबंग बकरा की कीमत लगी 32 हजार रुपए

औरंगाबाद :
बकरीद को ले रविवार को बकरे की खूब खरीदारी हुई। शहर के जामा मस्जिद के पास से सैकड़ों की संख्या में बकरा बिका। यहां बकरे की बाजार सजी थी। उत्तर प्रदेश के ईटावा एवं कानपुर से पहुंचे बकरा की कीमत अधिक रही। 32 हजार में दबंग नामक बकरा बिका। बकरा व्यवसायी मो. एनामुल हक कुरैशी ने बताया कि हरिहरगंज के हुनर कलामी ने बकरा खरीदा। जदयू के जिला कोषाध्यक्ष जहीर अहसन आजाद ने 25 एवं हरिहरगंज के मेडिकल दुकानदार आलम ने 17 हजार 500 में बकरा की खरीदारी की। जुमन अंसारी ने 12 हजार 500 में बकरा खरीदा। इसके अलावा 20 से 25 हजार के बीच दो दर्जन बकरा बिका। मो. सादिक कुरैशी ने बताया कि उत्तर प्रदेश के ईटावा से 10 लाख रुपए का बकरा खरीदकर लाया था। सभी बकरा बिक गया। कांग्रेस नेता राशिद अली खान ने छह हजार में बकरा की खरीदारी की। बकरीद को ले बाजार में चहल पहल बढ़ गई है। आज बकरीद मनाई जाएगी। 8:30 बजे ईदगाह एवं 9 बजे जामा मस्जिद में नमाज अदा की जाएगी। जामा मस्जिद के पेश इमाम शाहीद अनवर नदवी ने बताया कि यह त्यौहार हजरत इब्राहिम अल्लैह की याद में मनाया जाता है। खुदा के सामने तमाम जान माल की कुर्बानी पेश की जाती है। प्रत्येक मुसलमानों को कुर्बानी पेश करनी चाहिए। जो लोग दिखावे के लिए कुर्बानी करते हैं वे गुनाहगार होते हैं। बकरीद पर बकरे की मांग अधिक रही जिस कारण जो भी बकरा बाजार में आया वह बिक गया।

नीलमणि अध्यक्ष हैं और रहेंगे : विश्वनाथ

औरंगाबाद :
शहर के सिन्हा सोशल क्लब में रविवार को जदयू जिलाध्यक्ष विश्वनाथ सिंह ने कहा कि युवा जदयू के जिलाध्यक्ष नीलमणि उर्फ टुनटुन हैं और रहेंगे। अध्यक्ष पद को ले कोई विवाद नहीं है। नीलमणि के अलावा जिले में युवा जदयू का कोई दूसरा जिलाध्यक्ष नहीं है। उन्होंने कहा कि जिले में युवा जदयू का संगठन मजबूत और प्रभावशाली है। नीलमणि के नेतृत्व में यह संगठन बेहतर ढंग से कार्य कर रहा है। उपाध्यक्ष शैलेन्द्र कुमार दूबे, सत्यजीत कुमार सिंह, डा. ज्ञानेश्वर सिंह, प्रवक्ता तेजेन्द्र सिंह, पूर्व जिप अध्यक्ष पंकज कुमार, प्रखंड अध्यक्ष अजिताभ कुमार सिंह उर्फ रिंकू, दीपक कुमार सिंह की उपस्थिति में अध्यक्ष ने कहा कि केन्द्र सरकार पूंजीपतियों के गिरफ्त में है। पूंजीपति जो चाहते हैं सरकार वही करती है। आमजन का भरोसा इस सरकार से उठ गया है। दस महीने में छह दफा तेल के दामों में बढ़ोतरी कर सरकार ने महंगाई बढ़ाने का कार्य किया है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में पेट्रोल की कीमत 23.71 रुपए प्रति लीटर है वहीं भारत में 71.60 रुपए है। महंगाई के खिलाफ जदयू आंदोलन करेगी। केन्द्र सरकार की नीतियों को आमजन के बीच जाकर बताएगी। जदयू नेताओं ने सवाल उठाया और कहा कि पड़ोसी देशों में पेट्रोल 44 से 50 रुपए लीटर मिल रही है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में एनडीए सरकार बेहतर कार्य कर रही है। हरित क्रांति के नारा को मुख्यमंत्री ने बुलन्द किया है जिसे कार्यकर्ता गांवों में पहुंचा रहे हैं। सेवा यात्रा की चर्चा करते हुए अध्यक्ष ने कहा कि सीएम स्वयं आमजन से मिलकर विकास का हकीकत देखेंगे। सेवा यात्रा के प्रति कार्यकर्ता उत्सुक हैं। जदयू नेता अधिवक्ता रवीन्द्र शर्मा, जितेन्द्र गुप्ता, फिरोज सलाम, मितुल सिंह उर्फ गुड्डू, विकास पाण्डेय उर्फ बिटु, राकेश कुमार, राजीव शर्मा उपस्थित थे।


पीड़ितों की सेवा सबसे बड़ा धर्म : सत्यनारायण

औरंगाबाद :
शहर के टाउन इंटर कालेज मैदान में शनिवार रात्रि बिरहा का आयोजन किया गया। कृष्ण क्लब रामडीहा के बैनर तले आयोजित इस कार्यक्रम का उद्घाटन पूर्व मंत्री सुरेश पासवान, पूर्व विधायक इ. सत्यनारायण सिंह, सुरेश मेहता, राजद जिलाध्यक्ष कौलेश्वर यादव, प्रदेश सचिव सुबोध कुमार सिंह, लोजपा जिलाध्यक्ष मनोज कुमार सिंह ने दीप प्रज्वलित कर की। नेताओं ने उपस्थित भीड़ से भगवान कृष्ण के दर्शन और उनके बताए मार्ग पर चलने का आह्वान किया। पूर्व विधायक सत्यनारायण ने कहा कि पीड़ितों की सेवा सबसे बड़ा धर्म है। कमजोर लोगों की मदद में हमेशा तत्पर रहें। बलिया से पहुंचे बिरहा गायक परशुराम यादव एवं गाजीपुर के सुमन भारती के बीच मुकाबला हुआ। अपने क्रांतिकारी एवं भक्तिमय संगीत से दोनों ने श्रोताओं को मंत्रमुग्ध किया। नगर पार्षद डा. रमेश यादव, युसूफ आजाद अंसारी, संजय यादव, उदय उज्ज्वल, रवि कुमार अनिल कुमार यादव, संजय यादव उपस्थित थे। अध्यक्षता वीरेन्द्र कुमार यादव ने किया।


साक्षरता कार्यक्रम के विरोध में बैठक

नवीनगर (औरंगाबाद) :
 नवीनगर स्थित मध्य विद्यालय परिसर में प्रखंड साक्षरता समिति की बैठक साक्षरता के पूर्व संयोजक सुदय कुमार सिंह की अध्यक्षता में संपन्न हुई। साक्षरता के प्रखंड प्रशिक्षण प्रभारी सह बीस सूत्री अध्यक्ष उदय प्रताप सिंह, पूर्व पार्षद हरि राम, वीरेन्द्र कुमार सिंह, गीता देवी, मुखिया मधुमाला वैध, प्रो. सुनील बोस, सत्येन्द्र सिंह उपस्थित रहे। बैठक में सरकार द्वारा चलाए जा रहे साक्षर भारत कार्यक्रम में साक्षरता कर्मियों को तरजीह नहीं देने, अवैध रूप से समन्वयक व प्रेरकों की नियुक्ति करने पर सवाल उठाया गया। उदय ने कहा कि प्रखंड में जो भी प्रेरक व समन्वय की बहाली हुई है व अवैध है। बहाली की जांच डीएम से कराने का प्रस्ताव पारित किया गया। हरि राम ने साक्षर भारत कार्यक्रम में पारदर्शिता लाने की बात कही। कहा कि यह कार्यक्रम तभी सफल होगा जब सभी लोग एक साथ सहयोग करेंगे। कहा गया कि प्रेरक एवं समन्वय बहाली में जिला एवं प्रखंड साक्षरता सचिव ने फर्जी प्रमाण पत्र का वितरण किया। जिन लोगों ने साक्षरता कार्यक्रम में कभी योगदान नहीं किया उसे भी साक्षरता का प्रमाणपत्र दिया गया। पूरे मामले की जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई। कहा गया कि अगर अवैध नियुक्ति रद नहीं की गई तो आंदोलन किया जाएगा।


समस्याओं को ले सरपंचों ने की बैठक

औरंगाबाद :
शहर स्थित हिन्दू धर्मशाला में सरपंच संघ की बैठक संपन्न हुई। अध्यक्षता उपाध्यक्ष मधू देवी एवं संचालन सचिव शिवकुमार राम ने किया। बैठक में सरपंचों की समस्याओं पर विस्तारपूर्वक चर्चा की गई। समस्याओं से अवगत कराने को 15 नवम्बर को डीएम से मिलने का निर्णय लिया गया। पोईवां पंचायत के सरपंच सह संघ के जिलाध्यक्ष ऋंगारी देवी, सचिव शिवकुमार राम, मीडिया प्रभारी रवीन्द्र कुमार सिंह, संयुक्त सचिव ममता देवी, उपाध्यक्ष मधु देवी, विजय ठाकुर, कपिलदेव नारायण, योगेन्द्र सिंह के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल डीएम से मिलेगा। मीडिया प्रभारी रवीन्द्र ने बताया कि सरपंच एवं पंचों को प्रशिक्षण देने, बकाया मानदेय का भुगतान शीघ्र करने, ग्राम कचहरी का प्रभार पूर्व के सरपंच के द्वारा नहीं दिए जाने पर प्राथमिकी दर्ज करने, ग्राम कचहरी के कार्य में पुलिस एवं प्रशासन को सहयोग करने की मांग उठाई जाएगी। बैठक में उपाध्यक्ष सरस्वती देवी, निर्मला देवी, योगेन्द्र सिंह, रघुनाथ राम, श्यामपरी देवी, प्रेमलाल सिंह, रंजीत कुमार पासवान, सवित्री देवी, ज्ञांति देवी उपस्थित थे।

गजना महोत्सव 19 व 20 दिसम्बर को

नवीनगर (औरंगाबाद) :
 बिहार झारखंड के सीमा पर कररबारी नदी के किनारे आदि शक्ति मां गजनेश्वरी (गजनाधाम) परिसर में रविवार को बैठक की गई। अध्यक्षता श्री श्री 108 महंत अवध बिहारी दास ने की। बैठक में गजनाधाम को पर्यटन के मानचित्र पर लाने, परिसर का सौन्दर्यीकरण करने, धाम के पास 26 दुकानों का निर्माण करने, पांच हजार से ज्यादा दान देने वालों का नाम पत्थर पर अंकित करने, दुकान के ऊपर धर्मशाला बनाए जाने का प्रस्ताव पारित किया गया। धर्मशाला बनाने वाले दानी के नाम पर उसका नामकरण करने का निर्णय लिया गया। बैठक में 18 दिसम्बर को गजनाधाम एवं 19 व 20 को नवीनगर अनुग्रह नारायण स्टेडियम में कार्यक्रम आयोजित करने का निर्णय लिया गया। 18 दिसम्बर को गजनाधाम में संपन्न होने वाले महोत्सव का संयोजक पोलडीह पंचायत मुखिया अभय सिंह उर्फ टुना एवं सह संयोजक उदेश्वर राम को बनाया गया। सचिव सिद्धेश्वर विद्यार्थी, सुखदेव सिंह, राधेश्याम गर्ग, ब्रजनंदन द्विवेदी, जगेश्वर सिंह, अरुण द्विवेदी, आमोद चन्द्रवंशी, उपाध्यक्ष रामप्रवेश सिंह, सत्यनारायण सिंह, पूर्व मुखिया रामनरेश मेहता, कर्मदेव सिंह, मिथिलेश चन्द्रवंशी, सुरेन्द्र सिंह, अरुण, ललन उपस्थित थे।


महादलितों को ठग रही राज्य सरकार : राजद

औरंगाबाद:
राज्य सरकार के खिलाफ राजद ने मोर्चा खोल दिया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की प्रस्तावित सेवा यात्रा के खिलाफ में विरोध का बिगुल फूंकते हुए रविवार को पूर्व मंत्री सुरेश पासवान, प्रदेश सचिव सुबोध कुमार सिंह, डा. रमेश यादव एवं विजय कुमार शर्मा ने कहा कि सरकार महादलितों को ठग रही है। मुख्यमंत्री ने सभी महादलितों को घर बनाने के लिए तीन डिसमिल जमीन एवं समाचार सुनने के लिए रेडियो देने की घोषणा की थी। कितने महादलितों को जमीन मिला और रेडियो यह सेवा यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री टोलों में जाकर देखें। महादलित को जमीन तो नहीं दिया गया। जो जमीन उन्हें पर्चा से मिला था उस पर दखल भी सरकार ने नहीं दिया। कृषि का चर्चा करते हुए पूर्व मंत्री पासवान ने कहा कि केसीसी की हालत चिंताजनक है। सरकार का घोषणा अब तक छलावा साबित हुआ है। कृषि उत्सव के नाम पर पैसे की लूट हो रही है। किसानों को कृषि मेला से कोई लाभ नहीं मिल रहा है। सवाल उठाया और कहा कि जिस राज्य में किसानों को खाद नहीं मिल रहा हो वहां दूसरी सुविधा की अपेक्षा रखना ही बेकार है। जन वितरण प्रणाली की चर्चा करते हुए कहा कि तीन महीने से अनाज का उठाव न होना हकीकत बताने के लिए काफी है। गरीबों को अनाज नहीं मिल रहा है परंतु सरकार एवं अधिकारी चुप हैं। जविप्र के मामले में एक भी एसडीओ के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई। पूर्व मंत्री ने कहा कि सीएम गांव में जाकर हकीकत देखें तो सब कुछ पता चल जाएगा। सड़क की स्थिति जर्जर है। सड़क निर्माण के नाम पर पैसे की लूट की गई है। मुख्यमंत्री ने शहर में 24 एवं गांव में 48 घंटे के अंदर बिजली ट्रांसफार्मर बदलने की घोषणा की थी। यह घोषणा भी अब तक छलावा साबित हुई है। सरकार विकास की जगह जनता को बरगलाने में लगी है।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें