बुधवार, 9 नवंबर 2011

औरंगाबाद में आज की ताजा खबरे ( ८ अक्टूबर २०११ )

औरंगाबाद में ग्रामीण बैंक के 7 लाख रुपए लूटे

औरंगाबाद,  :
बोलेरो पर सवार सशस्त्र अपराधियों ने मंगलवार को दिनदहाड़े मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के एनएच 98 (पटना रोड) स्थित मंजुराही मोड़ के पास कारा मध्य बिहार ग्रामीण बैंक के सात लाख रुपए लूट लिए। औरंगाबाद पीएनबी बैंक से सहायक प्रबंधक अंजनी कुमार पाण्डेय मारुति वैन (बीआर18ए-2525) से पैसा लेकर कारा जा रहे थे कि रास्ते में यह घटना घटी। लूट का विरोध करने पर अपराधियों ने सहायक प्रबंधक, चपरासी सुरेन्द्र प्रसाद, चालक विपिन बिहारी सिन्हा की पिटाई की। सहायक प्रबंधक के अनुसार मारुति वैन जैसे ही मंजुराही गांव मोड़ के पास पहुंची की पीछे से बिना नंबर की बोलेरो पर सवार अपराधियों ने ओवरटेक कर वाहन को रुकवाया। हथियार का भय दिखाते हुए सभी को अपने कब्जे में ले लिया और गाड़ी में रहे सात लाख रुपए लूट लिए। अपराधियों ने चालक की मोबाइल भी छिन ली। पैसा लूटने के बाद सभी अपराधी बोलेरो से जीटी रोड की ओर भाग निकले। लूट की सूचना मिलते ही एसपी डा. सिद्धार्थ ने डीएसपी पीएन साहू एवं मुफ्फसिल थानाध्यक्ष कामेश्वर सिंह को घटनास्थल पर भेजा। पुलिस ने घटनास्थल पर बैंक कर्मियों से पूछताछ की। थानाध्यक्ष प्रबंधक, चपरासी एवं चालक को साथ लेकर पीएनबी पहुंचे और इस पूरे मामले की जांच की। मामले की प्राथमिकी सहायक प्रबंधक एके पाण्डेय के बयान पर दर्ज की गई है। थानाध्यक्ष ने बताया कि सभी थाना क्षेत्र की सीमा सील कर पैसा की बरामदगी एवं अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। लूट के बाद पुलिस के द्वारा विभिन्न स्थानों पर वाहन चेकिंग अभियान लगाया गया।

रामनगर में अपराधियों ने ट्रैक्टर फूंकी

औरंगाबाद/ओबरा,
खुदवां थाना क्षेत्र के रामनगर गांव में सशस्त्र अपराधियों ने सोमवार रात्रि मोहन कुमार उर्फ शम्भु प्रसाद का ट्रैक्टर फूंक दिया। शम्भु के घर पर चढ़कर अपराधियों ने गाली गलौज की। शम्भु ने पुलिस को बताया कि रात्रि करीब एक बजे दस-बारह की संख्या में हथियारबंद पहुंचे और कुर्बान मियां के दरवाजे के पास खड़ी ट्रैक्टर बीआर-26ए-3254 को किसी तरह स्टार्ट कर विशुनपुरा रोड ले गये। वहीं पर तेल छिड़कर ट्रैक्टर में आग लगा दी। एसडीपीओ मो. अजहर ने घटना की पुष्टि करते हुए कि शम्भु खुदवंा थाना में एसपीओ का कार्य करता था। उसने पुलिस को बताया है कि चंदा पंचायत मुखिया रंजीत राजवंशी एवं उनके गुर्गो ने ट्रैक्टर को जलाया है। तीन दिन पहले मुखिया ने गाली गलौज करते हुए ट्रैक्टर जलाने की धमकी दी थी। एसडीपीओ के अनुसार मामले में मुखिया समेत पांच नामजद अभियुक्त बने हैं। उन्होंने इस घटना को नक्सली घटना होने से इनकार किया। कहा कि कांड दर्ज कर मामले की तहकीकात की जा रही है।


जर्जर सड़क है विधायकजी इसे बनवाइए

रफीगंज (औरंगाबाद), निज प्रतिनिधि : जदयू विधायक अशोक कुमार सिंह ने मंगलवार को कृषि सह प्रशिक्षण भवन में जनता दरबार लगा ग्रामीणों की समस्या सुनी। भूजल सिंचाई योजना, केसीसी, जन वितरण प्रणाली में अनियमितता संबंधित 45 आवेदन प्राप्त हुए। विधायक के समक्ष लट्टा एवं सिहुली गांव से पहुंचे ग्रामीणों ने तिनेरी पथ के जर्जर होने का जिक्र किया। कहा कि इसे बनवाइए विधायक जी। विधायक ने चुटकी लेते हुए कहा कि इसके अभिकर्ता एक नेता के रिश्तेदार हैं। ग्रामीणों ने बताया कि सड़क निर्माण के लिए स्वीकृत राशि का 90 प्रतिशत राशि निर्गत हो चुका है परंतु दस वर्षों में 20 प्रतिशत कार्य भी नहीं किया गया। अंचल अधिकारी शिवशंकर सिंह, कनीय अभियंता पीएचईडी जनक सिंह, सीडीपीओ आशा कुमारी, प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी मोजीब अंसारी, पशुपालन पदाधिकारी डा. दिनेश चौधरी, बीस सूत्री अध्यक्ष अर्जुन सिंह, पूर्व उपप्रमुख राजेन्द्र सिंह, दिलीप सिंह, मुखिया पप्पू सिंह, मुखिया प्रतिनिधि मंटू सिंह, पंचायत समिति सदस्य जगत शर्मा उपस्थित थे। विधायक ने बताया कि जनता दरबार के दूसरे दिन एक पंचायत का दौरा करेंगे। गांव पहुंच ग्रामीणों की समस्या सुन उसका निराकरण करेंगे।


तीन महीने की पाबंदी व्यवसायी हित में

औरंगाबाद,  :
बैंक ड्राफ्ट एवं चेक की लाइफ घटने से व्यवसायी खुश हैं। व्यवसायियों को लग रहा है उन्हें चेक भुनाने के लिए लंबा इंतजार नहीं करना पड़ेगा। जिस चेक के पैसे के लिए उन्हें छह माह तक टकटकी लगानी पड़ती थी अब तीन माह के अंदर ही बैंक एकाउंट में पैसे आ जाएंगे। आम किसानों को ड्राफ्ट भुनाने की समस्या से जूझना पड़ेगा। कारण, पहले ड्राफ्ट बगैर एकाउंट के भंज जाता था परंतु अब बैंक में एकाउंट खोलवाना अनिवार्य होगा। एसबीआई के मुख्य प्रबंधक ओमप्रकाश सिंह रिजर्व बैंक के निर्णय को ग्राहकों के हित में बताते हैं। कहते हैं कि इससे ग्राहकों की परेशानी कम होगी। उन्होंने कहा कि वैसे भी बैंक ग्राहकों को सुविधा देने के लिए बैंकिंग प्रणाली में नित्य प्रतिदिन परिवर्तन कर रही है। ग्राहकों की सेवा के लिए एटीएम, मोबाइल बैंकिंग, एसएमएस अलर्ट, इंटरनेट, आरटीजीएस, एनईएफटी जैसे सुविधाएं दी गई है। बैंकिंग प्रणाली में बदलाव पर देव प्रखंड के खडीहा गांव निवासी संजय सिंह ने बताया कि पहले किसानों को धान अथवा चावल बेचने पर एफसीआई अथवा एसएफसी से दिए गए ड्राफ्ट बिना एकाउंट के बैंकों में भंज जाते थे अब किसानों को परेशानी होगी। पेट्रोल पंप व्यवसायी टीकु खेमका ने कहा कि आरबीआई के द्वारा चेक अथवा ड्राफ्ट की वैधता तीन माह किए जाने से व्यापारियों में खुशी है।

रैली को सफल बनाने का निर्णय

नवीनगर (औरंगाबाद),
एनटीपीसी दैनिक वेतन भोगी मजदूर संघ की बैठक मंगलवार को अध्यक्ष मदन प्रसाद वैश्य की अध्यक्षता में संपन्न हुई। बिहार प्रदेश भारतीय मजदूर संघ के प्रभारी शिवनारायण मेहता ने संगठन के कार्यो पर प्रकाश डाला। कहा कि 23 नवम्बर को रामलीला मैदान नई दिल्ली में हो रही मजदूर रैली को सफल बनाएं। यहां से संख्या में मजदूर दिल्ली पहुंचें। भ्रष्टाचार व महंगाई पर रोक लगाने, विदेशों में जमा काला धन वापस लाने, जमा कर्ताओं की सूची प्रकाशित करने एवं अन्य मांगों को लेकर संसद भवन के समक्ष प्रदर्शन किया जाएगा। रैली को सफल बनाने के लिए तैयारी समिति का गठन किया गया। रघुराज सिंह कार्यालय मंत्री बनाए गए। सरकार द्वारा घोषित मजदूरी एवं अन्य सुविधा के लिए मजदूर संघ के प्रतिनिधि मंडल कंपनी से मिलकर ज्ञापन देंगे। महासचिव वीरेन्द्र दूबे, उपाध्यक्ष अजय कुमार सिंह, अजय कुमार सिंह, अरविंद पाण्डेय, रमाकांत सिंह, करुणाकरण मिश्र, विनोद गुप्ता, गौतम ठाकुर, शैलेन्द्र प्रताप, नंद कुमार उपस्थित थे।

वीरेन्द्र बने नवीनगर भाजपा नगर अध्यक्ष


औरंगाबाद,  :
भाजपा जिलाध्यक्ष पुरुषोत्तम कुमार सिंह ने नवीनगर के गुरदी गांव निवासी वीरेन्द्र कुमार सिंह को नगर भाजपा अध्यक्ष मनोनित किया है। इससे पहले बैकुंठनाथ त्रिपाठी अध्यक्ष बनाए गए थे। बताया जाता है कि वे संगठन का कार्य सही ढंग से कर पा रहे थे जिस कारण हटाया गया है। वैसे पूछे जाने पर अध्यक्ष ने बताया कि उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। चर्चा है कि भाजपा जिला अध्यक्ष ने संगठन हित में कार्य न करने वाले पार्टी पदाधिकारियों की सूची तैयार की है। जो लोग सक्रिय नहीं रहेंगे उन्हें पद से हटाया जाएगा।

आयोडीन नमक को ले निकली जागरूकता रथ


औरंगाबाद,  :
आयोडीन युक्त नमक को ले उपभोक्तओं में जागरूकता के लिए मंगलवार को रथ निकली। सदर अस्पताल में डीएस डा. राजेन्द्र प्रसाद, सदर प्रखंड प्रभारी डा. जर्नादन प्रसाद, डा. कुमार महेन्द्र प्रताप, डीपीएम सागर ओझा, अस्पताल प्रबंधक ठाकुर चंदन सिंह ने हरी झंडी दिखा रथ को रवाना किया। डीपीएम ने बताया कि यह रथ सभी प्रखंडों का दौरा करेगी और ग्रामीण उपभोक्ताओं को आयोडीन युक्त नमक के प्रयोग पर जागरूकता लाएगी। कहा कि नमक में आयोडीन की मात्रा की जांच नजदीक के अस्पताल अथवा आगनबाड़ी केन्द्रों पर कराने की सुविधा उपलब्ध है। यूनिसेफ के सीडीयन कोर्डीनेटर निरज कुमार ने आयोडीन के बारे में जानकारी दी। कहा कि आयोडीन की कमी से गर्भवती महिलाओं में गर्भपात का खतरा बढ़ जाता है। बच्चा समय से पहले या मरा हुआ पैदा हो सकता है। बच्चे की शारीरिक अथवा मानसिक वृद्धि में कमी आती है। बच्चा अपंग हो सकता है। बच्चों के मृत्यु दर में वृद्धि होती है। वयस्कों में घेंघा रोग हो सकता है। मरीजों को आयोडीन रहित नमक का प्रयोग खाने में नहीं करने की बात कही।

बगैर चिकित्सक के चल रहा पशु अस्पताल

ओबरा (औरंगाबाद),  :
सरकार पशुपालकों को बढ़ावा देने की बात कहती है। पशुपालकों के हित में कई योजनाएं चलाई जा रही है परंतु पशु अस्पताल में चिकित्सक नहीं है। ओबरा प्रखंड मुख्यालय में पशु अस्पताल का भवन देखने में चकचक है परंतु यहां चिकित्सक नहीं हैं। बगैर चिकित्सक के यह अस्पताल चल रहा है। चिकित्सक के नहीं रहने से पशुपालकों को परेशानी होती है। स्थिति यह है कि पशुपालक पशु को लेकर दूसरे जगह इलाज के लिए जाते हैं। एक वर्ष पहले पशु चिकित्सक डा. संजय कुमार का तबादला हो गया। उनके चले जाने के बाद से यहां किसी चिकित्सक का पदस्थापन नहीं हुआ है। जुलाई से दिसम्बर 2010 तक फेसर के पशु चिकित्सा पदाधिकारी गोकुल लाल प्रभार में रहे। उनके फेसर चले जाने के बाद डिहरा के पशु चिकित्सक डा. जयप्रकाश नारायण प्रभार में हैं परंतु वे सप्ताह में एक दिन कुछ घंटों के लिए आते हैं। रात्रि प्रहरी आनंद मोहन ने बताया कि चिकित्सक के नहीं रहने के कारण पशुपालक वापस लौट जाते हैं। पूर्व मुखिया शंभू प्रसाद, लोजपा प्रखंड अध्यक्ष सुरेश पासवान, समाजसेवी कृष्णा भगत, ओबरा पैक्स अध्यक्ष सत्येन्द्र कुमार, पशुपालक डा. उपेन्द्र वर्मा ने चिकित्सक के पदस्थापन की मांग किया है।

अस्पताल में प्रसव के बाद महिला मरी

औरंगाबाद,  :
सदर अस्पताल में सोमवार शाम प्रसव के बाद कुटुम्बा थाना के नेउरा गांव निवासी मनोज राम की पत्‍‌नी बबिता देवी की मौत हो गई। मौत के बाद परिजनों ने हंगामा किया। परिजनों ने इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया। बाद में किसी तरह मामला को शांत कराया गया। अस्पताल प्रबंधक ठाकुर चंदन सिंह ने बताया कि प्रसव के बाद महिला को खून की आवश्यकता पड़ी। बबिता को खून चढ़ाने के लिए परिजनों को रेडक्रास में ब्लड देने के लिए कहा गया तो महिला के कोई भी परिजन ब्लड देने को तैयार नहीं हुए। ब्लड नहीं देने के कारण खून उपलब्ध नहीं हुआ और बबिता की मौत हो गई। कहा कि महिला के प्रसव के पहले एवं बाद में डा. लालसा सिन्हा एवं रामभजन चौधरी के द्वारा इलाज किया गया था। बता दें कि इससे पहले भी इलाज के दौरान महिला की मौत को लेकर हंगामा हुआ है।

रफीगंज में बैंकर्स कमिटी की बैठक


रफीगंज (औरंगाबाद),  :
 प्रखंड कार्यालय परिसर में मंगलवार को परिक्ष्यमान उप समाहर्ता विजयंत कुमार की अध्यक्षता में प्रखंड स्तरीय बैंकर्स कमिटी की बैठक की गई। उपस्थित अग्रणी बैंक प्रबंधक एमएन मिश्रा ने सरकारी योजनाओं में बैंकों के रवैये पर असंतोष जताया। सीओ शिवशंकर सिंह, प्रसार पदाधिकारी नंद कुमार गुप्ता, प्रखंड आत्मा के अध्यक्ष शिवरंजन शर्मा, प्रबंधक पीएनबी एके पाडेय, प्रबंधक इंडियन बैंक वीरेन्द्र पाल, कासमा के प्रबंधक अर्जुन प्रसाद उपस्थित थे। एलडीएम ने बताया कि केसीसी से संबंधित 300 आवेदन विभिन्न बैंकों में भेजे गए थे जिसमें मात्र 35 मामलों का निष्पादन किया गया है। सभी बैंक प्रबंधकों को तीन दिनों में आवेदनों का निष्पादन करने का आदेश दिया गया है। एसजीएसवाई के तहत गठित समूहों को 31 दिसम्बर तक हर हाल में ऋण मुहैया कराया जाए।

युवा जदयू अध्यक्ष को ले पार्टी में खींचतान


औरंगाबाद, :
युवा जदयू जिलाध्यक्ष को ले पार्टी में खींचतान शुरू हो गई है। जदयू जिलाध्यक्ष विश्वनाथ सिंह की उपस्थिति में रविवार को युवा जदयू जिलाध्यक्ष नीलमणि उर्फ टुनटुन ने जिला कमिटी की घोषणा की थी। प्रेस कांफ्रेंस आयोजित कर कमेटी के सदस्यों के नाम घोषित किए थे। अखबार में बयान देख रफीगंज प्रखंड के लट्टा गांव निवासी अनिल कुमार भड़क उठे और युवा जदयू के अध्यक्ष होने का दावा जताने लगे। उन्होंने प्रेस में युवा जदयू के प्रदेश अध्यक्ष फैसल रहमान का पत्र दिया और कहा कि मैं 10 सितम्बर 2011 को अध्यक्ष बना हूं। अब तक इसकी सूचना पार्टी नेताओं को क्यों नहीं दी के सवाल पर कहा कि व्यस्तता के कारण ऐसा नहीं कर सका। अनिल ने पार्टी जिलाध्यक्ष विश्वनाथ सिंह पर तानाशाह एवं हिटलरशाह होने का आरोप लगाया है। कहा है कि वे जदयू को जिले में डूबो देना चाहते हैं परंतु हम इस मामले में चुप नहीं बैठने वाले हैं। पूरे मामले की जानकारी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव, प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह एवं युवा जदयू के प्रदेश अध्यक्ष फैसल रहमान को देंगे। उधर जिलाध्यक्ष विश्वनाथ सिंह ने कहा कि मैं कोई लट्टा के अनिल को नहीं जानता। लट्टा का कोई अनिल जदयू का सदस्य नहीं है। जो व्यक्ति प्राथमिक सदस्य नहीं है वह जिलाध्यक्ष कैसे बन सकता है। दो माह पहले अध्यक्ष का पत्र मिला था तो उन्होंने इसकी जानकारी प्रेस एवं पार्टी के नेताओं को क्यों नहीं दी। उन्होंने कहा कि अनिल का लगाव कांग्रेस से रहा है और पिछले विधानसभा चुनाव में भी वे कांग्रेस का झंडा ढो रहे थे। उम्र पर भी चैलेंज करते हुए अध्यक्ष ने कहा कि युवा जदयू का अध्यक्ष बनने के लिए 35 वर्ष का होना जरूरी है। जो व्यक्ति पार्टी का सदस्य नहीं है और पार्टी के खिलाफ बयान दे यह गलत है। नीलमणि युवा जदयू के जिलाध्यक्ष हैं और जिले के सभी कार्यक्रमों में सक्रिय रहते हैं। प्रदेश अध्यक्ष को पूरी स्थिति की जानकारी दे दी गई है।

पूर्व जिला पार्षद के पुत्र समेत आठ गए जेल


औरंगाबाद,  :
मुफ्फसिल थाना के परसा एवं करमा भगवान गांव के बधार में सोमवार को जमीन विवाद को लेकर हुई खूनी संघर्ष में पुलिस ने आठ अभियुक्तों को गिरफ्तार कर मंगलवार को जेल भेज दिया है। सभी अभियुक्त पूर्व जिला पार्षद के समर्थक हैं। थानाध्यक्ष कामेश्वर सिंह ने बताया कि पूर्व जिला पार्षद राणा प्रताप सिंह के पुत्र सचिन कुमार, भाई समर प्रताप सिंह, लक्ष्मी प्रताप सिंह, डिहरी पोईवां गांव निवासी मनोज कुमार सिंह, सिमरीया गांव निवासी प्रमोद सिंह, नंद सिंह, जम्होर थाना के रामपुर गांव निवासी गोविंद कुमार सिंह एवं बारूण थाना के सनथुआ गांव निवासी संतोष कुमार सिंह को जेल भेजा गया है। इनके अलावा राणा प्रताप सिंह, वृंदा सिंह, अनिल सिंह, सुनील सिंह, मिंटू सिंह पर 107 की कार्रवाई की गई है। दूसरे पक्ष से परसा गांव निवासी अशोक कुमार सिंह, गोपाल सिंह, रामजी सिंह, संतोष सिंह, नितेश सिंह, रितेश सिंह, अनंत मोहन सिंह, चुनमून, अमृत राज उर्फ बंटी, राजेन्द्र सिंह, ललिता प्रसाद सिंह, जगेश्वर सिंह, पिंटू कुमार सिंह, कामता सिंह, डब्लू सिंह, बब्लू सिंह, मंटू सिंह, रिंकू सिंह, भोला सिंह पर 107 की कार्रवाई की गई है। दोनों पक्षों के अभियुक्तों के विरूद्ध भादंस की धारा 147, 148,149, 341, 342, 323, 324, 325, 307,447, 504, 27 आ‌र्म्स एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है।

पुलिस लाइन में जवानों की दक्षता ट्रेनिंग
औरंगाबाद,  :
समस्या को लेकर प्रदर्शन कर रहे ग्रामीणों, सड़क जाम कर नारेबाजी करने वाले उपद्रवियों से निपटने को पुलिस लाइन में नवनियुक्त पुलिसकर्मियों को प्रशिक्षण दिया गया। मंगलवार को प्रशिक्षण के दौरान यह बताया गया कि भीड़ को पहले समझाइए और अगर बात न बने तो अग्रतर कार्रवाई करें। आक्रोशित भीड़ को कैसे नियंत्रित करना है, पब्लिक से कैसे निपटा जाए इसका प्रशिक्षण दिया गया। एक तरफ पब्लिक बने जवान बिजली समस्या को ले प्रदर्शन कर रहे थे तो दूसरी तरफ वर्दी में रहे जवान उन्हें समझाने का प्रयास। पब्लिक बने पुलिसकर्मी वर्दी पहने सुरक्षा बलों पर पथराव करते हैं। समझाने पहुंचे दारोगा और जमादार को भीड़ बंधक बना लेती है। इससे निपटने के लिए दंगा नियंत्रण वाहन पहुंचती है। उस पर सवार लाठी लिए जवान उतरते हैं और भीड़ को खदेड़ने लगते हैं। भीड़ नियंत्रित नहीं होती है तो हथियार लिए जवान हवाई फायरिंग करते हैं। भगदड़ में घायल हुए पब्लिक को एम्बुलेंस से इलाज के लिए कैसे अस्पताल पहुंचाया जाए इसकी जानकारी दी गई। एएसपी अभियान अरुण कुमार, डीएसपी पीएन साहु, मेजर एके झा, सार्जेन्ट मेजर प्रदीप चौधरी, दारोगा इन्द्रमा सिंह, सिपाही राजकुमार के अलावा अन्य पुलिसकर्मियों ने जवानों को प्रशिक्षण दिया। दो दिनों तक एसपी डा. सिद्धार्थ ने पुलिसकर्मियों को प्रशिक्षण दिया।

लूट की घटना के बाद बैंक में सन्नाटा

ओबरा (औरंगाबाद), निज प्रतिनिधि : मध्य बिहार ग्रामीण बैंक कारा में मंगलवार को सन्नाटा रहा। सात लाख रुपए लूट की सूचना जैसे ही प्रबंधक प्रेम नारायण सिंह को मिली वे औरंगाबाद के लिए निकल पड़े। बैंक में सुधीर चन्द्र झा कार्य करते मिले परंतु सन्नाटा दिखा। मदरसा इस्लामिया कारा के मो. नेहालुद्दीन अंसारी 50 हजार रुपए निकालने बैंक पहुंचे। बैंक कर्मी ने उन्हें बैंक में इतने रुपए न होने की बात कही। कहा कि 50 की जगह 20 से काम चलाइए। बैंक का पैसा लूटा गया है जिस कारण पैसा कम है। कारा निवासी संतोष कुमार, शंभू प्रसाद, कुरमाईन निवासी वीरेन्द्र कुमार भी पैसा निकालने पहुंचे थे परंतु उन्हें पैसा नहीं मिला। राधे बिगहा के नारायण सिंह ने बैंक में कुछ रुपए जमा किए। लूट की सूचना के बाद दाउदनगर एसडीपीओ मो. अजहर बैंक पहुंचे और कर्मियों से पूछताछ की। लूट की सूचना से कारा बाजार में भी सन्नाटा रहा।








 


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें